जब समय का तमाचा पड़ता है तो कोई फ़कीर तो कोई बादशाह बन जाता है

जब समय का तमाचा पड़ता है तो कोई फ़कीर तो कोई बादशाह बन जाता है

जब समय का तमाचा पड़ता है तो कोई फ़कीर तो कोई बादशाह बन जाता है जब समय का तमाचा पड़ता है तो कोई फ़कीर तो कोई बादशाह बन जाता है

Share with your friends

Leave a Reply